ड्रग्स केस :- ड्रग्स के मामले में नाम आने के बाद रकुल प्रीती सिंह पहुंची दिल्ली हाईकोर्ट, मीडिया कवरेज पर लगे रोक

0
45

ड्रग्स केस :- ड्रग्स के मामले में नाम आने के बाद रकुल प्रीती सिंह पहुंची दिल्ली हाईकोर्ट, मीडिया कवरेज पर लगे रोक

दोस्तों जैसा कि आप सभी लोगों को मालूम है एनसीपी के सामने रिया चक्रवर्ती डैंड्रफ के मामले में 25 बॉलीवुड सेलिब्रिटीज के नाम का खुलासा किया था। इन 25 नामों में 3 नाम सार्वजनिक में जिनमें रकुल प्रीती सिंह, रणवीर सिंह की फैशन डिजाइनर और सारा अली खान का नाम शामिल है। जब ड्रग्स के केस के मामले में रकुल प्रीती सिंह का नाम सामने आया था उन्होंने दिल्ली हाईकोर्ट में अपनी याचिका दायर की हैं।

जानकारी के लिए बता दें सुशांत सिंह राजपूत मौत के केस के बाद छानबीन के चलते ड्रग्स का भी खुलासा हुआ जिसके चलते 25 बॉलिवुड सिलेब्रिटीज के नाम सामने आए थे। इनमें से सामने आए रकुल प्रीती सिंह ने दिल्ली हाई कोर्ट में अपनी याचिका दायर की और कहा कि मुझे इस मामले में जबरदस्ती घसीटा जा रहा है और उनकी छवि को नुकसान पहुंचाया जा रहा है।

अपनी याचिका में रकुल प्रीती सिंह ने कहा जिस प्रकार रिया चक्रवर्ती के बयान के आधार पर उनके खिलाफ ड्रग्स लेने का आरोप लगाया जा रहा है लेकिन रिया चक्रवर्ती कोर्ट के सामने अपने बयान से मुकर चुके हैं और उसको जबरदस्ती में लिया गया बता चुकी हैं। जो कि वर्तमान समय में दिल्ली हाईकोर्ट में इस मामले की सुनवाई चल रही है।

लगे मीडिया पर रोक

बताने वाली भूत की फेमस अभिनेत्रियां कुलपति जी ने दलील पेश की है कि मीडिया उनके खिलाफ इस तरह विरोध आत्माक कैंपेन नहीं चला सकती। रकुल प्रीती सिंह ने कहा है कि जब से रिया चक्रवर्ती ने मेरा और सारा अली खान का नाम जाए तब से मीडिया में लगातार उन्हें बदनाम करने की कोशिश की जा रही है जबकि रकुल प्रीती सिंह है कि इस मामले की जांच अभी शुरुआती दौर पर है जिसके चलते आने वाले समय में इसके कई खुलासे हो सकते हैं। जिस तरीके से रकुल प्रीती सिंह का नाम मीडिया में उछाला जा रहा है जिसके चलते उनकी छवि खराब हो रही है ऐसे चैनलों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

मौलिक अधिकारों का हनन

रकुल प्रीति जी ने दलील पेश की है जब से ड्रग्स के मामले में उनका नाम आया है तब से मीडिया उनके और उनके घर वाले लोगों को परेशान कर रहे हैं रकुल प्रीती सिंह ने अपनी तरफ से कहा कि फिलहाल अदालत में उनके खिलाफ चलाए जा रहे इस प्रकार के आरोप और कैंप इन पर रोक लगाने के लिए निर्देश जारी करें। मौलिक अधिकार के हनन की बात रकुल प्रीती सिंह की तरफ से की जा रही है और उनकी दलील में कहा गया है कि मामला भी न्यायालय में लंबित है इस मामले में मीडिया को कुछ भी चलाने से रोका जाए।