1 दिन में कितना बादाम खाना चाहिए, कब खाएं और कैसे खाएं-

0
390

1 दिन में कितना बादाम खाना चाहिए, कब खाएं और कैसे खाएं-

दोस्तों बादाम एक सुपरफूड की श्रेणी में आता है इसलिए कहा जाता है कि बादाम का नियमित रूप से इस्तेमाल करने से यह बहुत सारी बीमारियों से हमें बचाए रखता है। जो लोग भी बादाम का इस्तेमाल करना चाहते हैं उन्हें शुरुआत में इस बात का बिल्कुल भी ज्ञान नहीं रहता कि उन्हें कितना बादाम खाना चाहिए, कब खाना चाहिए और कैसे खाना चाहिए और इसे खाने से हमें क्या फायदे और क्या नुकसान होते हैं, जिसकी वजह से बादाम का इस्तेमाल करने के बावजूद उन्हें कहीं भी सही फायदा मिल भी नहीं पाता और कभी-कभी तो नुकसान भी भुगतना पड़ जाता है इसलिए हम आज आप लोगों को बताने जा रहे हैं कि 1 दिन में आपको कितना बादाम खाना चाहिए और कब खाना चाहिए।

तो आइए जानते हैं बादाम खाने के फायदे के बारे में-

दिन भर में कम से कम हमें कितने बादाम खाना चाहिए और क्यों खाना चाहिए-

बादाम का सही मात्रा में और सही तरीके से इस्तेमाल करने पर यह शरीर को बहुत मजबूत बनाता है और कोलेस्ट्रॉल हाई ब्लड प्रेशर डायबिटीज, हड्डियां में कमजोरी, दिल की बीमारी और यहां तक कि कैंसर जैसी बीमारियों से भी हमें बचाने के साथ-साथ दीमाग की ताकत को भी बढ़ाता है। बादाम में हाई क्वालिटी प्रोटीन, एंटी ऑक्सीडेंट, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट्स और कॉपर, बायोटीन, विटामिन मैग्नीशियम और हेल्दी फैट की मात्रा अधिक होती है इसलिए दिन भर में कितना बादाम खाना चाहिए जानना बहुत जरूरी होता है।

एक दिन में ज्यादा से ज्यादा एक मुट्ठी या 23 से 24 बादाम खाया जा सकता है लेकिन याद रहे कि यह बादाम खाने के सबसे ज्यादा लिमिट है या जो लोग भी बादाम का तेल इस्तेमाल करना चाहते हैं उन्हें 4 से 5 बादाम ही खाना चाहिए और कुछ दिन बाद उसे कुछ दिन बाद 9 से 10 बादाम तक बढ़ा सकते हैं। बादाम का ज्यादा मात्रा में सेवन करने से शरीर में फाइबर की मात्रा बढ़ जाती है जिससे कि पेट दर्द अपच और कब्ज की समस्या हो सकती है। बादाम का इस्तेमाल बच्चे बूढ़े जवान कोई भी कर सकते हैं लेकिन जिन लोगों को पथरी, पित्ताशय की प्रॉब्लम है उन्हें सिर्फ बादाम ही नहीं बल्कि कोई भी ड्राई फुट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि बादाम और दूसरे ड्राई फ्रूट्स में एक जिलेट की मात्रा अधिक होती है जो पथरी को दुगनी तेजी से बढ़ा सकता है।

बादाम को कैसे खाएं भिगोकर या सुखा कर-

बादाम को भीगा कर खाना चाहिए या सुखा यह सवाल भी आप लोगों के मन में उठ रहा होगा। दरअसल बादाम के छिलके में टैनिन पाया जाता है जो एंजाइम प्रतिरोध तक होता है जिसकी वजह से इसे पचाने में हमारे पाचन तंत्र को बहुत मेहनत करनी पड़ती है। इसलिए बेहतर यही है कि रात को 4 से 5 बादाम को गुनगुने पानी में डालकर छोड़ दें और सुबह उसका छिलका उतारकर सेवन करें। ऐसा करने से पाचन शक्ति को बढ़ाता है और इसमें भरी न्यूट्रिशंस भी शरीर में आसानी से काम करता है अगर आपको डाइजेशन की प्रॉब्लम नहीं होती तो बादाम को भिगोने के बाद उसे छिलके के साथ भी खा सकते हैं बादाम का इस्तेमाल सुबह दोपहर शाम कभी भी किया जा सकता है लेकिन ज्यादा रात में इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

बादाम खाने का सही समय इससे आप किस फायदे के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं उस पर पूरी तरह निर्भर करता है अगर आप किसी जर्नल हेल्थ के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको सुबह नाश्ते से पहले इसका सेवन करना चाहिए और अगर आपके चर्बी को – चाह रहे हैं तो इसका सुबह नाश्ते से पहले ही इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है इसलिए इसेके सेवन से जल्दी भूख भी नहीं लगती और शरीर में एनर्जी भी बनी रहती है लेकिन जो लोग फिजिकल एक्टिविटीज के लिए या जिम जाते हैं उन्हें बादाम का इस्तेमाल एक्सरसाइज से 30 मिनट पहले या फिर एक्सरसाइज के बाद करना चाहिए। जिम करने वाले लोग एक गिलास दूध में 5 से 6 भिगोकर खिले हुए बादाम और एक से दो खजूर डालकर शेक बनाकर भी इस्तेमाल कर सकते हैं जो कि एनर्जी देने में बहुत ही ज्यादा मदद करता है।