Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य के अनुसार इन तीन चीजों को कभी ना समझे छोटा, वरना हो सकते हैं बर्बाद

0
14
Chanakya Niti

Chanakya Niti Hindi: आचार्य चाणक्य सर्वश्रेष्ठ विद्वान में से एक गिने जाते हैं आचार्य चाणक्य कौटिल्य विष्णुगुप्त के नाम से भी आज मशहूर हैं। आचार्य चाणक्य ने अपनी शिक्षा तक्षशिला नामक विश्वविद्यालय से प्राप्त किए और अपनी स्वयं की योग्यता के चलते वही के विद्यार्थियों को शिक्षा प्रदान करने लगे थे। आचार्य चाणक्य की नीति आज भी लोगों को जीवन में सुखद सरल बनाने में प्रभावित करती है।

भले ही चाणक्य द्वारा बताए गए नीचे थोड़ा कठिन है लेकिन जो व्यक्ति अपने जीवन में इसे उतार लेता है वह किसी भी क्षेत्र में सफलता प्राप्त कर सकता है। उनकी नीति व्यक्ति को जीवन में आगे बढ़ते रहने में काफी ज्यादा मदद करती है। आज हम उनके एक श्लोक के बारे में बताने जा रहे हैं जिसमें उन्होंने तीन चीजों के बारे में बताएं हैं जिसे कभी भी छोटा छोटा नहीं समझना चाहिए वरना हानिकारक हो सकते हैं।
 

कर्ज को कभी ना समझे छोटा

आचार्य चाणक्य कहते हैं कि कभी भी कर्ज को छोटा नहीं समझनी चाहिए अन्यथा यह आगे चलकर आपको कर्ज में डूबा सकता है और आपकी आर्थिक स्थिति खराब हो सकती है, जिसके कारण समस्या आप के निकट आ सकता है इसीलिए कभी भी कर्ज को छोटा नहीं समझना चाहिए और इसे जल्दी क्यों खाने का प्रयास करना चाहिए।

दुश्मन को कभी ना समझे छोटा

चाणक्य के अनुसार कभी भी शत्रु को छोटा बिल्कुल भी नहीं समझनी चाहिए जो व्यक्ति शत्रु को छोटा समझता है उसे बाद में भारी नुकसान झेलना पड़ सकता है दुश्मन को छोटा समझ कर व्यक्ति सतर्कता नहीं बरखपाता जिसका फायदा उठाकर उस पर किसी भी वक्त शत्रु हमला कर सकता है। इसीलिए शत्रु से हमेशा बचकर रहना चाहिए।

रोग को छोटा समझ कर लापरवाही ना करें

आचार्य चाणक्य कहते हैं कि कभी भी लोगों को छोटा समझ कर अनदेखा नहीं करनी चाहिए। अक्सर लोग रोग को छोटा समझ कर दवाई या फिर औषधि लेने में थोड़ी लापरवाही करते हैं जिसका खामियाजा आपको आगे भोगना पड़ सकता है। कई बार तो व्यक्ति के प्राणों तक यह संकट पहुंच जाता है। चलिए चाणक्य कहते हैं कि कभी भी रोग को अनदेखा ना करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here