Chanakya Niti: मनुष्य के स्वभाव में अगर ये तीन चीजें आ जाती है तो निश्चित बर्बादी का कारण हो सकता है

0
17
Chanakya Niti

Chanakya Niti Hindi: आचार्य चाणक्य बेहद ही विद्वान माना जाता था, आचार्य चाणक्य रणनीति बनाकर किसी कार्य को किया करते थे। आज आचार्य चाणक्य कौटिल्य विष्णुगुप्त नाम से पहचाने जाते हैं। चाणक्य ने अपनी कूटनीति शास्त्र में कई तरह की नीतियां बताएं हैं जिसे अमल करके किसी भी क्षेत्र में सफलता प्राप्त किया जा सकता है। चाणक्य द्वारा बताए गए शास्त्रों में सिद्धांत विज्ञान की बजाय व्यवहारिक शिक्षा की बातें दी गई है। आज हम उन्हीं के शास्त्रों में से कुछ नीतियां बताने जा रहे हैं जो इंसान के स्वभाव में अगर यह तीन चीजें आ जाती है तो वह इंसान बर्बाद हो जाता है आइए जानते हैं क्या कहती हटके चाणक्य नीति.

आचार्य चाणक्य का मानना है कि जिस किसी व्यक्ति में क्रोध अहंकार और लालच आ जाती है वह अपनी काबिलियत खो बैठता है। चाणक्य का यह कथन सत्य और व्यावहारिक है जिस व्यक्ति के ऊपर यह तीन चीजें आ जाती है उसे ज्यादा देर नहीं लगती बर्बाद होने में। चाणक्य के अनुसार ऐसे व्यक्तियों की सोचने और समझने की क्षमता पूरी तरह से खत्म हो जाती है।

चाणक्य के अनुसार जिस किसी व्यक्ति में स्वभाव में अहंकार आ जाता है तो सबसे पहले उसकी बातचीत करने का बर्ताव बदल जाता है। जब क्रोध आता है तो उसकी बुद्धि काम नहीं करती और वह नकारात्मक चीजों को सोचने लगता है जबकि लालच मनुष्य को किसी भी सीमा को मांगने पर मजबूर कर देता है।

ऐसा व्यक्ति कभी भी किसी कब प्रिय नहीं हो सकता और ना ही किसी समाज या परिवार में इसकी मान्यता होती है। ऐसे व्यक्ति जीवन में सिर्फ अकेले ही रहते हैं ऐसे लोगों का कोई साथ नहीं देता। इस कारण व्यक्ति के अपने स्वभाव में इन तीन चीजों को कभी नहीं अपनानी चाहिए।

आचार्य चाणक्य ने इसके अलावा छल और कपट या बुरे कार्यों से कमाए गए पैसों के बारे में भी कहा है जो ज्यादा देर तक नहीं टिकते। बुरे कार्यों से कमाए गए पैसे कभी भी लोगों को परेशानियों में ला सकते हैं और जल्दी उनका आर्थिक जीवन बर्बाद हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here